Pyasi ladki ankita

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विकास है, मेरी उम्र 27 साल है, में जयपुर का रहने वाला हूँ। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। हमारे पास में ही एक पड़ोसी है मिस्टर मेहता, उनके एक बेटी है रंजना और वो कोई 22 साल की होगी, वो बहुत सेक्सी बड़े-बड़े बूब्स, भारी-भारी गांड की मालकिन है और वो मुझे काफी दिनों से लाईन दे रही थी, लेकिन मुझे कुछ करने का मौका नहीं मिल रहा था, लेकिन फिर एक दिन मुझे मौका मिल ही गया, उसके घर पर कोई नहीं था और सभी लोग किसी काम से 8-9 घंटे के लिए बाहर गये हुए थे। फिर उसने मुझे फोन किया कि घर आ जाओ, घर पर कोई नहीं है, तो में उसके घर पहुँच गया। उस वक्त दिन के 11 बज रहे थे, जून का महीना था और सभी लोग गर्मी के कारण अपने घरों में बंद थे। फिर में शुरू हो गया और अब वो पहले से ही मूड में थी, लेकिन मुझे रोकने का नाटक करके धीरे से बोली कि सस्स्स्सस्स, आआआअहह, नहीं ये क्या कर रहे हो? सस्सस्स आआआअ, ये गलत है आआआअहह, अब उसे मज़ा भी बहुत आ रहा था।

अब में उसके कुर्ते के अंदर अपना एक हाथ डालकर उसके बूब्स दबा रहा था और एक जाँघ उसकी जाँघ पर रखकर अपने तने हुए लंड से उसकी जाँघ को रगड़ रहा था। अब उसका एक हाथ मेरे सिर पर और दूसरा मेरी कमीज के अंदर पीठ पर था। अब उसकी आँखे बंद थी और अब वो मज़े के सातवें आसमान पर थी और बोले जा रही थी मत करो, प्लीज, आहह, मुझे कुछ पता नहीं है क्या हो रहा है? और उसने अपने आप अपनी दोनों टाँगे चौड़ी कर दी। फिर मैंने धीरे-धीरे अपना एक हाथ उसके कुर्ते से बाहर निकालकर उसकी कमर, फिर उसकी जाँघो को उसकी सलवार के ऊपर से ही मसलने लगा और फिर धीरे-धीरे उसकी टांगों के बीच में ले आया और मसलने लगा। वो चीख पड़ी और बोली कि आआहह, सस्स्स्स्ससस्स, हाआआआआआअ, सस्स्स्स्सस्स्सस्स, हाआआआआ, सस्स्सस्स, हाआआआआ। अब में उसकी गर्म साँसे अपने शरीर पर महसूस कर रहा था और अब पूरे कमरे में हमारी सांसो की ही आवाज गूंज रही थी।

Indian girl naked removing her panty

अब में उसके पेट को मसलता हुआ उसके नाड़े के बंधन को टच कर रहा था और धीरे-धीरे उसकी सलवार में अपना हाथ डालने की कोशिश कर रहा था और फिर ऐसा करते हुए मैंने अपना एक हाथ उसके सलवार में डाल ही दिया। अब उसने अपनी दोनों टाँगे तो पहले से ही चौड़ी की हुई थी तो मैंने महसूस किया कि उसने अभी कुछ दिन पहले ही अपनी चूत के बाल साफ किए है। फिर मैंने उसकी चूत को हल्के से रगड़ते हुए उसकी दरार में अपनी बीच वाली उंगली पर उसकी क्लिट को महसूस किया। अब वो थोड़ी ऊपर की तरफ उठी हुई थी।

अब रंजना भी अपनी गांड उठाकर अपनी दोनों टांगे चौड़ी करके अपनी चूत रगड़वा रही थी। फिर मैंने अपनी बीच वाली उंगली उसकी चूत में डाल दी, तो उसने ज़ोर से उउउहह, आआआहह करते हुए मुझे कसकर पकड़ लिया और अपनी चूत टाईट कर दी। अब मेरी उंगली उसकी चूत की पकड़ महसूस कर रही थी। फिर में करीब 10 मिनट तक ऐसे ही करता रहा। फिर में उठा और पहले अपनी शर्ट उतार दी, अब में ऊपर से बिल्कुल नंगा था। फिर उसके बाद मैंने उसे एक किस किया और उसके ऊपर लेट गया और ऐसा करते हुए मैंने उसे अपने ऊपर लेटा दिया और उसके कुर्ते की चैन खोल दी और उसकी पीठ पर अपना एक हाथ डालकर उसकी ब्रा पर अपना एक हाथ फैरने लगा। फिर में उसका कुर्ता ऊपर करके उतारने लगा, तो उसने भी मेरी मदद की। फिर मैंने उसे अपने ऊपर बैठाया और उसका कुर्ता उतार दिया। अब वो सिर्फ ब्रा में ही थी और अब में उसके बूब्स मसलने लगा था और अब वो मदहोश हुये जा रही थी।

फिर मैंने उसे अपनी सलवार खोलने को कहा, तो उसने कहा कि कुछ होगा तो नहीं ना? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं होगा। तो फिर वो उठी और अपनी सलवार खोल दी और अपनी पेंटी भी खोल दी। तो मैंने कहा कि अब मेरे मुँह पर बैठ जाओं। तो उसने वैसे ही किया और अपनी दोनों टाँगे चौड़ी करके मेरे मुँह पर बैठ गयी। अब में उसकी चूत को चाटने लगा था, वो अपनी चूत पहली बार चटवा रही थी। अब उसकी चूत जो पहले से ही गीली थी, उसका पानी मेरी नाक और मुँह पर लग गया था। अब मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी गांड पकड़ी हुई थी और उसकी चूत चाट रहा था, क्या नमकीन टेस्ट था? अब में अपनी जीभ को कभी उसकी चूत पर, तो कभी उसकी गांड की दरार में ले जा रहा था। अब वो पागल हुए जा रही थी और बोले जा रही थी तुम बहुत गंदे हो, लेकिन मुझे भी पता नहीं क्या हो रहा था? अब मुझे मज़ा भी बहुत आ रहा था।

फिर मैंने अपने हाथ उसकी गांड को छोड़कर उसकी पीठ पर ले जाकर उसे नीचे की तरफ किया और उसके मोटे बूब्स को अपने मुँह में लेकर उसके निपल पर हल्का सा काट दिया और चूसने लगा। अब वो मेरे ऊपर लेटी हुई थी और अपने हाथ से मेरी छाती को मसल रही थी। अब मेरे 7 इंच लम्बे लंड का बुरा हाल था और अब वो मेरे नेकर से बाहर निकलने को उतावला हो रहा था। अब वो भी मेरे लंड को देखना चाहती थी, लेकिन थोड़ी शर्म कर रही थी। फिर मैंने कहा कि मेरी नेकर का बटन खोलो, तो फिर उसने मेरी नेकर को खोला, तो मेरा लंड बाहर आ गया। फिर मैंने उससे कहा कि इसे पकड़ो, अब वो भी यही चाहती थी तो उसने झट से मेरा लंड अपने हाथों में ले लिया और बोली कि मैंने किसी जवान आदमी का लिंग पहली बार देखा है। फिर मैंने कहा कि लिंग नहीं लंड कहो। फिर मैंने उससे कहा कि इस पर अपना थूक लगाओ, तो वो अपने मुँह से मेरे लंड पर थूक लगाने के लिए जैसे ही झुकी तो मैंने अपने कूल्हें ऊपर करके मेरे लंड को उसके मुँह से टच करा दिया। फिर वो एकदम से बोली कि ये क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि तुम इसे अपने मुँह में ले लो, लेकिन उसने मना कर दिया।

फिर कुछ देर समझाने के बाद वो मान गयी। फिर मैंने उसे 69 की पोज़िशन में आने को कहा और उसे अपने ऊपर किया। अब वो मेरा लंड चूस रही थी और में उसकी चूत चाट रहा था। अब में मेरी एक उंगली उसकी चूत में तो एक उसकी गांड में डाल रहा था। फिर मैनें करीब 10 मिनट तक ऐसे ही किया। फिर मैंने कहा कि रंजना अब में तुम्हारी चूत में अपना लंड डालना चाहता हूँ तो वो उतर गयी और सीधी लेट गयी। फिर मैंने उससे कहा कि थोड़ा दर्द होगा, लेकिन तुम चिल्लाना मत। तो उसने कहा कि बहुत दर्द होगा क्या? तो मैंने कहा कि ज़्यादा नहीं होगा। तो उसने कहा कि कुछ होगा तो नहीं ना? तो मैंने कहा कि तुम चिंता मत करो। फिर मैंने पहले उसकी गांड के नीचे दो मुलायम तकिए रखे और उसकी दोनों टाँगे चौड़ी की और अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा।

अब वो मजे में अजीब-अजीब आवाजे निकालने लगी थी ह्म्‍म्म्मम, अहह, उहह, अहह। फिर मैंने उससे कहा कि आर यू रेडी बेबी? तो उसने डरते हुए कहा कि हाँ। फिर मैंने मेरे लंड का टोपा उसकी चूत के छेद पर रखा और धीरे से अंदर की तरफ धकेल दिया। अब उसकी चूत गीली थी, लेकिन मेरा लंड मोटा था और वो बिना चुदी चूत तो मेरा लंड उसकी चूत में आसानी से नहीं गया। फिर मैंने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रखे और अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी, तो वो मेरी जीभ चूसने लगी। फिर मैंने अपने कूल्हें थोड़े ऊपर उठाए और एक जोरदार झटका दिया तो वो उम्म्म्मममम, उगगगगगगघह करके झटपटाने लगी और मेरे कंधों को पीछे करके अपने आपको छुड़ाने लगी, लेकिन मेरी पकड़ मजबूत थी। फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और फिर से एक जोरदार शॉट मारा, तो उसकी आँखों से आँसू निकल गये, लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा। फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और फिर से एक बार जोरदार शॉट मारा, तो अब की बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया और में उसे किस करता रहा और मेरा लंड उसकी चूत के अंदर फंसाकर वैसे ही लेटा रहा।

फिर करीब 5 मिनट के बाद में धीरे-धीरे शुरू हुआ। अब उसका दर्द कुछ कम हो गया था और थोड़ी देर के बाद उसे भी मज़ा आने लगा था। अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी और अब उसने अपनी टांगो से मेरी कमर पकड़ी हुई थी और अपने दोनों हाथ मेरे गले में फँसा रखे थे, वो बहुत शानदार पोज़िशन थी। अब पूरे कमरे में पच-पच पच-पच फुच-फुच फुच-फुच की आवाज़े आ रही थी। अब कभी वो मेरे कूल्हों पर अपना हाथ रखकर अपनी चूत की तरफ दबा रही थी, ताकि मेरा लंड और ज़्यादा अंदर चला जाए। फिर करीब 20-25 मिनट की चुदाई के बाद वो बोली कि मुझे कुछ हो रहा है, प्लीज़ तेज करो। फिर मैंने कहा कि तेरा वीर्य निकलने वाला है और फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी तो 1 मिनट के बाद अचानक से उसने मुझे ज़ोर से भींच लिया और आआअहह करती हुई बोली कि हाँ और करो और करो हाआअन्न्‍न, और करो, आआआआआअहह और फिर वो झड़ गयी और शांत हो गयी, अब उसकी पकड़ ढीली हो गयी थी।

अब में समझ गया था कि वो झड़ गयी है, लेकिन फिर उसका गर्म गाढ़ा वीर्य मुझे मेरे लंड पर महसूस हुआ और मेरा लंड सहन नहीं कर पाया और फिर मैंने भी अपना लंड बाहर निकाला और उसके पेट पर अपना भी सफ़ेद और गाढ़ा वीर्य निकाल दिया। अब उसकी छाती और बूब्स सब मेरे वीर्य से भर गये थे और मेरे वीर्य की कुछ पिचकारी उसके मुँह पर भी गिरी, तो उसने बुरा सा मुँह बनाया। फिर हम दोनों को जब कभी भी कोई मौका मिला तो हमने खूब चुदाई की और खूब इन्जॉय किया ।।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *